Wednesday, November 24, 2010

बिहार चाहे विकास

बिहार में नीतीश कुमार की जीत को आम जीत न कहें तो बेहतर है। यह जीत दर्शाती है कि बिहार की जनता को अब बारुद की गमक और बंदूक व लाठी की गूंज नहीं, विकास पथ की दरकार है। नीतीश के जरिए उसे उन्‍नत राज्‍य चाहिए। सपाट सडकों पर तरक्‍की भरी रफ्तार चाहिए। बिहार के लोगों को अब नया बिहार चाहिए।

No comments:

प्रकृति और 'हम'

सुनो, प्रकृति की बांसुरी की धुन को जो हाड़ कंपा रही है मन को डरा रही है हर बूंद की कीमत प्‍यास बढ़ाकर दर्शा रही है देखो, महान आकाश क...